जनरल बिपिन रावत की जीवनी | General Bipin Rawat Biography In Hindi

Published by Saurav Bhagat on

आज के इस आर्टिकल में हमलोग बिपिन रावत जी के बारे में जीवन परिचय (Bipin Rawat Biography in Hindi) जानेंगे। दोस्तों, जैसा की आपलोगों को पता होगा की बिपिन रावत जी ने देश की सेवा में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

जनरल बिपिन रावत जी भारतीय सेना के फोर स्टार जनरल( four-star General) थे और हाल ही में 31 दिसंबर 2019 को भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस (CDS) अधिकारी बने। 

अभी हाल ही में 8 दिसंबर 2021 को एक हेलिकॉप्टर क्रैश होने की वजह से उनकी मृत्यु हो गई। उस हेलीकाप्टर में CDS जनरल बिपिन रावत और इनकी पत्नी समेत कई और अधिकारी भी सफर कर रहे थे।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको बिपिन रावत जी की जीवनी के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं। इस दुखद दुर्भाग्यपूर्ण क्षण में, उनके जीवन पर एक नज़र डालें।

Bipin Rawat Biography In Hindi

बिपिन रावत का जीवन परिचय (Bipin Rawat Biography in Hindi):-

नामबिपिन रावत
जन्म16 मार्च 1958
जन्म स्थानपौड़ी गढ़वाल (उत्तराखंड)
मृत्यु8 दिसंबर 2021
मृत्यु स्थान कुन्नूर, तमिलनाडु
आयु63 साल (मृत्यु तक )
पिता का नाम लेफ्टिनेंट जनरल लक्ष्मण सिंह रावत
माता का नामपॉलीन कोच
गृहनगर (Hometown)लैंसडाउन, पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखंड, भारत
शिक्षाएमफिल की डिग्री ,
प्रबंधन और कंप्यूटर अध्ययन में डिप्लोमा
डॉक्टरेट की उपाधि
पत्नी का नाममधुलिका रावत
सेवाभारतीय सेना में
पददेश के प्रथम CDS अधिकारी
बच्चे2 बेटियां
जाति क्षेत्रीय राजपूत
धर्महिन्दू
वेतन 2,50,000 रूपये प्रतिमाह + अन्य भत्ते
राशिवृषभ

बिपिन रावत कौन थे? (Who is Bipin Rawat):-

बिपिन रावत जी भारतीय थलसेना के चीफ रह चुके हैं और हाल ही में कुछ समय पहले उन्हें तीनों सेना का प्रमुख यानि कि चीफ ऑफ़ डिफेन्स (CDS) स्टाफ बनाया गया था।

Chief of defense (CDS) staff का काम थल सेना, वायु सेना और जल सेना तीनों के बीच समझौता और तालमेल बैठाना होता है। बिपिन रावत जो भारत के रक्षा प्रमुख भी रह चुके हैं।

बिपिन रावत का जन्म और शुरुआती जीवन (Bipin Rawat Birth and Early Life):-

बिपिन रावत का जन्म 16 मार्च 1958 को पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखंड में हुआ। इनका जन्म उत्तराखंड के एक क्षेत्रीय राजपूत परिवार में हुआ था और इनकी कई पीढ़ी भारतीय सेना में सेवा दे रहा था।

इनके पिता, लक्ष्मण सिंह रावत ने भी भारतीय सेना की सेवा की और लेफ्टिनेंट-जनरल के पद तक पहुंचे थे और इनकी माँ उत्तराखंड के उत्तरकाशी के एक पूर्व विधायक की बेटी थी।

इनका बचपन फौजियों के बीच ही बीता और इनकी शुरूआती पढाई देहरादून के कैम्ब्रियन हॉल स्कूल में ही हुई थी, जिस वजह से इनका भी सपना था की मैं भी देश की सेवा भारतीय सेना के रूप में करूं।

बिपिन रावत की शिक्षा (Bipin Rawat Education):-

बिपिन रावत ने अपनी शुरुआती शिक्षा देहरादून के कैम्ब्रियन हॉल स्कूल और सेंट एडवर्ड स्कूल से किया और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला और भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून में शामिल हो गए, जहाँ उन्हें ‘स्वॉर्ड ऑफ़ ऑनर’ से सम्मानित भी किया गया।

इन्होंने डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज (डीएसएससी), वेलिंगटन और यूनाइटेड स्टेट्स आर्मी कमांड में हायर कमांड कोर्स और फोर्ट लीवेनवर्थ, कंसास में जनरल स्टाफ कॉलेज से स्नातक किये थे।

इसके बाद बिपिन रावत जी ने एम.फिल. भी किया और रक्षा अध्ययन में डिग्री के साथ-साथ मद्रास विश्वविद्यालय से प्रबंधन और कंप्यूटर अध्ययन में डिप्लोमा भी किया।

सैन्य मीडिया सामरिक अध्ययन पर उनके शोध के लिए, उन्हें चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ द्वारा डॉक्टरेट ऑफ फिलॉसफी से सम्मानित किया गया।

बिपिन रावत का कैरियर और उनके द्वारा किए गए कार्य :-

16 दिसंबर 1978 को, सीडीएस बिपिन रावत को 11 गोरखा राइफल्स की 5वीं बटालियन में नियुक्त किया गया था, जो उनके पिता लक्ष्मण सिंह रावत की इकाई थी।

उन्होंने आतंकवाद रोधी अभियानों का संचालन करते हुए अपने 10 साल बिताए और मेजर से लेकर वर्तमान सीडीएस तक विभिन्न सेवाओं में काम किया।

मेजर के पद पर रहते हुए बिपिन रावत ने जम्मू-कश्मीर के उरी में एक कंपनी की कमान संभाली। उन्होंने कर्नल के रूप में किबिथू में एलएसी के साथ अपनी बटालियन की कमान संभाली।

इन्होंने ब्रिगेडियर के पद पर पदोन्नत होने के बाद, उन्होंने सोपोर में राष्ट्रीय राइफल्स के 5 सेक्टर और कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य (MONUSCO) में एक अध्याय VII मिशन में बहुराष्ट्रीय ब्रिगेड की कमान संभाली, जहाँ उन्हें दो बार फोर्स कमांडर की प्रशस्ति से सम्मानित किया गया।

जब उन्हें मेजर जनरल के पद पर पदोन्नत किया गया तो बिपिन रावत ने उरी में 19वीं इन्फैंट्री डिवीजन के जनरल ऑफिसर कमांडिंग के रूप में पदभार संभाला।

एक लेफ्टिनेंट जनरल के रूप में, उन्होंने पुणे में दक्षिणी सेना को संभालने से पहले दीमापुर में मुख्यालय वाली III कोर की कमान भी संभाली।

जनरल बिपिन रावत ने 17 दिसंबर 2016 को भारत सरकार द्वारा 27 वें सेनाध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था और 31 दिसंबर 2016 को पदभार ग्रहण किया था।

उन्होंने भारतीय सेना के चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के 57 वें और अंतिम अध्यक्ष के रूप में भी कार्य किया और उन्हें 30 दिसंबर 2021 को पहले सीडीएस के रूप में नियुक्त किया गया था और 1 जनवरी 2020 को पदभार ग्रहण किया था।

पदअपॉइंटमेंट की तिथि
सेकंड लेफ्टिनेंट16 दिसंबर 1978
लेफ्टिनेंट16 दिसंबर 1980
कैप्टेन31 जुलाई 1984
मेजर16 दिसंबर 1989
लेफ्टिनेंट कर्नल1 जून 1998
कर्नल1 अगस्त 2003
ब्रिगेडियर1 अक्टूबर 2007
मेजर जनरल20 अक्टूबर 2011
लेफ्टिनेंट जनरल1 जून 2014
जनरल (COAS)1 जनवरी 2017
जनरल(CDS)30 दिसंबर 2019

बिपिन रावत के पुरस्कार (Bipin Rawat Award):-

जनरल बिपिन रावत जी को मिलने वाले कुछ पुरस्कारों के नाम इस प्रकार है –

  • युद्ध सेवा पदक
  • उत्तम युद्ध सेवा पदक
  • अति विशिष्ट सेवा पदक
  • परम विशिष्ट सेवा पदक
  • सेना पदक
  • विशिष्ट सेवा पदक

बिपिन रावत की सैलरी (Bipin Rawat Salary):-

बिपिन रावत जी की सैलरी ₹250000 प्रतिमाह दी जाती थी। लेकिन वर्ष 2020 में कोरोना कॉल के समय बिपिन रावत जी ने अपनी सैलरी के ₹50000 प्रतिमाह प्रधानमंत्री फंड(PM fund) में देने लगे थे।

बिपिन रावत की मृत्यु (Bipin Rawat Death):-

8 दिसंबर 2021 को जब बिपिन रावत जी अपनी पत्नी के साथ हेलिकॉप्टर में थे, तो तमिलनाडु के कुन्नूर के पास उनका हेलिकॉप्टर अचानक से क्रेश हो गया।

जिस वजह से उनकी एवं उनकी पत्नी दोनों की मृत्यु हो गई और इस हेलिकॉप्टर में बिपिन रावत और उनकी पत्नी सहित 14 लोग मौजूद थे,जिनमें से 13 लोगों की मौत हो गयी थी और ग्रुप कैप्टेन वरुण सिंह गभीर रूप से घायल हुए हैं, जिसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।

बिपिन रावत के सुविचार (Bipin Rawat Quotes):-

बिपिन रावत जी के सुविचार कुछ इस प्रकार हैं –

  • पद कोई भी हो, उसे सही तरीके से निभाने के लिए टीम वर्क बहुत ही जरूरी है।
  • देश का हर एक नागरिक चाहे तो देश के लिए जरूर कुछ कर सकता है।
  • देश की सुरक्षा के लिए हम अकेले कुछ नहीं करते, हमारा हर एक सैनिक इसमें भागीदार होता है।
  • हम उन सभी देशभक्तों की कभी बराबरी नहीं कर सकते, जो सियाचिन की ठंड में देश की सेवा करते हैं।
  • यह जरूरी नहीं है कि आप किसी सरकारी पद पर ही रहकर देश का सहयोग करें आप किसी भी क्षेत्र में हो यदि आप एक सच्चे देशभक्त हैं तो देश की रक्षा कर सकते हैं।

FAQs (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल):-

Q1. बिपिन रावत कौन थे?

भारतीय चीफ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ के अधिकारी थे।

Q2. बिपिन रावत CDS कब बने?

बिपिन रावत 31 दिसंबर 2019 में CDS बने थे।

Q3. बिपिन रावत का जन्म कब हुआ?

जनरल बिपिन रावत जी का जन्म 16 मार्च 1958 को हुआ।

Q4. बिपिन रावत को कितनी सैलरी मिलती है?

बिपिन रावत को 2,50,000 रूपये प्रतिमाह तथा अन्य भत्ते सैलरी के तौर पर मिलते थे।

Q5. बिपिन रावत की पत्नी का नाम क्या था?

बिपिन रावत की पत्नी का नाम मधुलिका रावत है।

Q6. बिपिन रावत के कितने बच्चे है?

बिपिन रावत के केवल 2 बेटियां हैं।

Q7. बिपिन रावत की मृत्यु कब हुई?

बिपिन रावत की मृत्यु 8 दिसंबर, 2021 को हुई।

Q8. बिपिन रावत की मृत्यु कैसे हुई?

बिपिन रावत की मृत्यु हेलिकॉप्टर हादसे में हुई।

आज आपने क्या सीखा :-

आज के इस पोस्ट में हमने ”बिपिन रावत का जीवन परिचय” (Bipin Rawat Biography in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी बताया है और मैं आशा करता हूँ की आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा।

मुझे उम्मीद हैं की आपको बिपिन रावत का जीवन परिचय के बारे में सारी जानकारी अच्छे से समझ आ गए होंगे और आपको इनसे रिलेटेड सारे प्रश्नो के जवाब भी मिल गए होंगे।

अगर आपको इस ब्लॉग पोस्ट से सम्बंधित कोई भी सवाल हैं तो आप नीचे Comments Section में पूछ सकते हैं।

अगर आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया हो और हर बार की तरह कुछ नया सिखने को मिला हो तो आप इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया अकाउंट और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।


Saurav Bhagat

I am a passionate Blogger, Content Writer, SEO expert, and Freelancers.

0 Comments

Leave a Reply

DMCA.com Protection Status