CBSE Ka Full Form Kya Hai – जानिए सीबीएसई के बारे में पूरी जानकारी

Spread the love

आज के इस पोस्ट में हम जानेगें की CBSE full form, CBSE ka full form, CBSE meaning in hindi, CBSE क्या है, CBSE की मुख्य विशेषताएं, CBSE Board में पढ़ने के फायदे, इत्यादि।

आपलोगों ने CBSE का नाम कहीं ना कहीं जरूर सुना होगा और आप सभी ने इसके बारे में कई बार पढ़ा भी होगा, लेकिन क्या आप CBSE का फुल फॉर्म जानते हैं?

आपमें से बहुत से स्टूडेंट CBSE बोर्ड में पढ़े होंगे या फिर पढ़ रहे होंगे लेकिन फिर भी ऐसे बहुत सारे स्टूडेंट्स हैं जिन्हें CBSE के बारे में कुछ पता ही नहीं होता है।

आज के समय भारत में ऐसे बहुत सारे स्टूडेंट्स हैं जो सीबीएसई बोर्ड में पढाई कर रहें हैं और स्टेट बोर्ड को छोड़कर सीबीएसई बोर्ड की तरफ जा रहें हैं। लेकिन फिर भी ऐसे बहुत सारे स्टूडेंट होंगे जिन्हे CBSE board ka full form तक पता नहीं होगा।

इसलिए आप इस आर्टिकल शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़िए ताकि आप CBSE के बारे में सारी बातें जान सकें और अगर आपसे कोई CBSE के बारे में सवाल पूछ लें तो आप उसे सब कुछ आसानी से बता सकें।

तो चलिए जानते हैं की CBSE ka full form क्या होता है और इससे जुड़ी सारी जानकारियाँ।

CBSE Ka Full Form

CBSE Ka Full Form (सीबीएसई का फुल फॉर्म):-

सीबीएसई का फुल फॉर्म “Central Board of Secondary Education” होता है। सीबीएसई को हिंदी में “केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड” बोला जाता है।

CBSE Full Form In English :-

CBSE का फुल फॉर्म इंग्लिश में “Central Board of Secondary Education” होता है।

C – Central

B – Board of

S – Secondary

E – Education

◆ What is the full form of CBSE? – Full Form of CBSE is “Central Board of Secondary Education

CBSE Full Form In Hindi :-

सीबीएसई का फुल फॉर्म हिंदी में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड होता है।

CBSE क्या है (CBSE Kya hai):-

सीबीएसई बोर्ड भारत की एक राष्ट्रीय स्तर का बोर्ड है और इसे केंद्र सरकार के द्वारा नियंत्रित किया जाता है। सीबीएसई मुख्य रूप से भारत का ही बोर्ड है और इस बोर्ड का मुख्य एग्जाम क्लास 10th और 12th के लिए कराई जाती है।

सीबीएसई की सिलेबस NCERT बुक के आधार पे होती है और इस बोर्ड का सिलेबस प्रैक्टिकल पार्ट से ज्यादा थ्योरी पार्ट को महत्व देता है। सीबीएसई बोर्ड की सबसे ख़ास बात है की इसमें इंग्लिश और हिंदी दोनों मध्यम के बच्चे पढाई कर सकते हैं।

इंडिया में होने वाली सभी बड़ी-बड़ी प्रतियोगी परीक्षा जैसे – JEE, NEET, और UPSC, सभी सीबीएसई बोर्ड पाठ्यक्रम पर आधारित होती है। जिस वजह से सीबीएसई बोर्ड में पढ़ने वाले स्टूडेंट के लिए ये सभी एग्जाम में पास होने की संभावना ज्यादा होती है।

आज के समय में सभी पेरेंट्स अपने बच्चों को स्टेट बोर्ड से सीबीएसई बोर्ड की तरफ शिफ्ट कर रहे हैं। क्योंकि सीबीएसई बोर्ड पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों के पूर्ण विकास में मदद कर रहा है।

CBSE की स्थापना :-

सीबीएसई बोर्ड की स्थापना 3 November 1962 में की गयी थी। सीबीएसई बोर्ड के तहत आने वाले सभी सरकारी और निजी स्कूल राजधानी दिल्ली से चलाए जाते हैं।

CBSE का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। अभी के समय (2022 में) सीबीएसई के अध्यक्ष आईएएस (IAS) विनीत जोशी जी हैं। सीबीएसई बोर्ड इंग्लिश और हिंदी दोनों माध्यम में पढ़ने की सुविधा प्रदान करती है।

इस बोर्ड पे 1952 से ही काम शुरू कर दिया गया था और इसके कार्य क्षेत्र को बढ़ाया जा रहा था और फिर 1962 में सीबीएसई का पूर्ण गठन सफलतापूर्वक किया गया था।

CBSE का मुख्य उद्देश्य :-

सीबीएसई के मुख्य उद्देश्य कुछ इस प्रकार हैं –

  • सीबीएसई का मुख्य उद्देश्य शिक्षकों के कौशल और पेशेवर क्षमता को अपडेट करने के लिए क्षमता निर्माण कार्यक्रम का आयोजित करना।
  • CBSE का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय लक्ष्यों के अनुरूप स्कूलों में शिक्षा में सुधार की योजना का प्रस्ताव करना।
  • सीबीएसई का उद्देश्य तनाव मुक्त, समग्र और बाल केंद्रित शिक्षा के लिए एक उपयुक्त शैक्षणिक दृष्टिकोण को परिभाषित करना।
  • सीबीएसई का मुख्य उद्देश्य परीक्षा के प्रारूप और शर्तों को निर्धारित करना और कक्षा 10 वीं और 12 वीं के लिए बोर्ड परीक्षा का आयोजन करना।

CBSE की परीक्षाएं :-

सीबीएसई के द्वारा बहुत सारे परीक्षाएं लिए जाते हैं, जिनमे बोर्ड परीक्षा से लेकर अलग-अलग प्रतियोगिता परीक्षा शामिल होते हैं। और ये पुरे परीक्षाएं पुरे भारत में लिए जाते हैं।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी की सीबीएसई हर साल कक्षा 10 वीं और 12 वीं के छात्रों के लिए board परीक्षा आयोजित करवाती है और इन परीक्षाएं में पास करना सभी स्टूडेंट के लिए बहुत ही जरुरी होता है।

सीबीएसई हर साल इंजीनियरिंग और मेडिकल स्टूडेंट के लिए अलग-अलग परीक्षाएं आयोजित करवाती है। जिन्हें पास करने के बाद इंजीनियरिंग और मेडिकल स्टूडेंट को कॉलेज प्राप्त होते हैं।

CBSE केंद्रीय विद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती के लिए हर साल Central Teachers Eligibility Test (CTET) की परीक्षा आयोजित करवाती है। जिन्हें पास करने के बाद ही शिक्षकों को स्कूल में पढ़ाने के लिए चुना जाता है।

इन सभी एग्जाम के अलावा भी सीबीएसई बहुत सारे परीक्षाएं आयोजित करवाती है। जो अलग-अलग लेवल पे अलग-अलग लोगों के लिए होती है।

CBSE Board और ICSE Board में क्या अंतर है :-

सीबीएसई बोर्ड और आईसीएसई बोर्ड के बीच बहुत अंतर है, तो चलिए इसके अंतर को हम एक-एक करके जानते हैं –

  • सीबीएसई में आपको हिन्दी और अंग्रेज़ी दोनों माध्यम में पढ़ाई के विकल्प मिलते हैं जबकि आईसीएसई में केवल अंग्रेज़ी माध्यम में ही पढ़ाई होती है।
  • CBSE बोर्ड इंडियन गवर्नमेंट के द्वारा सर्टिफाइड है जबकि ICSE Board इंडियन गवर्नमेंट के द्वारा सर्टिफाइड नहीं है।
  • CBSE बोर्ड की सिलेबस ICSE बोर्ड की तुलना में ज्यादा आसान और छोटा है।
  • सीबीएसई बोर्ड से पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट के पास भारत में होने वाली बड़ी-बड़ी प्रतियोगी परीक्षा जैसे – JEE, NEET, और UPSC में पास होने की संभावना ज्यादा होती है।
  • आईसीएसई बोर्ड में पढ़ने वाले स्टूडेंट की इंग्लिश काफी अच्छी होती हैं जिस वजह से इनलोगों के पास TOEFL और IELTS जैसी परीक्षाओं में पास होने की संभावना ज्यादा होती है।

CBSE Board में पढ़ने के फायदे :- 

  • सीबीएसई में आपको हिन्दी और अंग्रेज़ी दोनों माध्यम में पढ़ाई के विकल्प मिलते हैं।
  • सीबीएसई बोर्ड की सिलेबस अन्य बोर्ड की तुलना में ज्यादा आसान और छोटा होता है।
  • CBSE बोर्ड से पढ़ाई करने के बाद, भारत में होने वाली बड़ी-बड़ी प्रतियोगी परीक्षा जैसे – JEE, NEET, और UPSC में पास होने की संभावना ज्यादा होती है।

FAQs : CBSE Ka Full Form

Q1. CBSE ka full form क्या है?

Ans: CBSE का फुल फॉर्म “Central Board of Secondary Education” है।

Q2. CBSE के अध्यक्ष कौन हैं?

Ans: CBSE के अध्यक्ष आईएएस विनीत जोशी है।

Q3. क्या CBSE बोर्ड ICSE बोर्ड से अच्छा है?

Ans: यह बहुत से चीज़ों पे निर्भर करता है, इसलिए कुछ मामले में CBSE बोर्ड अच्छा है और कुछ में ICSE बोर्ड अच्छा है।

Q4. प्रतियोगी परीक्षा के लिए कौन सा बोर्ड अच्छा है?

Ans: अगर इंडिया के overall प्रतियोगी परीक्षा की बात की जाए तो इसके लिए सीबीएसई बोर्ड सबसे अच्छा है। क्यूंकि लगभग सभी एग्जाम सीबीएसई बोर्ड के सिलेबस के आधार पे ही होता है।

Q5. मैं सीबीएसई बोर्ड परीक्षा परिणाम कहां देख सकता हूं?

Ans: सीबीएसई बोर्ड परीक्षा परिणाम देखने के लिए आप CBSE के ऑफिसियल वेबसाइट “cbse.gov.in” or “cbseresults.nic.in“ पे आप अपना रिजल्ट देख सकते हैं।

Read Also –

आज आपने क्या सीखा :-

आज के इस आर्टिकल में हमनें CBSE के बारे में बहुत कुछ जाना है, हमने CBSE Full Form, CBSE ka full form, cbse meaning in hindi, cbse board ka full form, CBSE  क्या है, CBSE का मुख्य उद्देश्य, CBSE की परीक्षा, इत्यादि के बारे में बात किया है।

मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल में बतायी गयी सारी बातें आपको अच्छी लगी होगीं और सब कुछ समझ आ गया होगा। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे CBSE से रिलेटेड कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो नीचे comment कर के पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब हो तो भी आप बता सकते हैं।

अगर हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हों तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Leave a Reply