CNG का Full Form क्या है? – CNG Full Form In Hindi

Published by Saurav Bhagat on

आज के इस पोस्ट में हम जानेगें की CNG full form, full form of  CNG, CNG ka full form, CNG gas full form, CNG ka Pura naam, CNG क्या है, CNG का उपयोग, CNG के फायदे, इत्यादि।

आपलोगों ने CNG का नाम कहीं ना कहीं जरूर सुना होगा और आप सभी ने इसके बारे में कई बार पढ़ा भी होगा, लेकिन क्या आप CNG का फुल फॉर्म जानते हैं?

आज के समय में cng गैस का इस्तेमाल धीरे-धीरे हर जगह किया जाने लगा है क्यूंकि जब से प्रदूषण की समस्या बढ़ने लगी है तब से पुरे भारत में सरकार द्वारा cng गैस का इस्तेमाल करने का बढ़ावा दिया जा रहा है।

भारत सरकार के द्वारा लोगो को जागरूक किया जा रहा है की ज्यादा से ज्यादा cng गैस का इस्तेमाल किया जाए ताकि हमारे देश को प्रदूषण से बचाया जा सकें।

इसलिए आप इस आर्टिकल शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़िए ताकि आप CNG के बारे में सारी बातें जान सकें और अगर आपसे कोई CNG के बारे में सवाल पूछ लें तो आप उसे सब कुछ आसानी से बता सकें।तो चलिए जानते हैं की CNG का full form क्या होता है और इससे जुड़ी सारी जानकारियाँ।

CNG Full Form

CNG Ka Full Form (सीएनजी का फुल फॉर्म):-

सीएनजी का फुल फॉर्म “Compressed Natural Gas” होता है। और सीएनजी का मतलब हिंदी में “संपीडित प्राकृतिक गैस” होता है।

CNG Full Form In English :-

CNG का फुल फॉर्म इंग्लिश में “Compressed Natural Gas” होता है।

C – Compressed

N – Natural

G – Gas

◆ What is the full form of CNG? – Full Form of CNG is “Compressed Natural Gas

CNG Full Form In Hindi :-

CNG का फुल फॉर्म हिंदी में संपीडित प्राकृतिक गैस होता है।

C – Compressed (संपीडित)

N – Natural (प्राकृतिक)

G – Gas (गैस)

CNG क्या है (CNG Kya hai):-

CNG एक प्रकार का प्राकृतिक(natural) गैसीय ईधन है, जिसका उपयोग बहुत सारे अलग-अलग वाहनों के लिए किया जा रहा है जैसे – बस, कार, ऑटो, और टैक्सी।

सीएनजी गैस का इस्तेमाल Petrol, Diesel और LPG के बदले किया जाता है क्यूंकि सीएनजी के इस्तेमाल से प्रदूषण की समस्या से बचा जा सकता है।

सीएनजी गैस रंगहीन और गंधहीन होता है, जिस वजह से इस गैस को ना ही देखा जा सकता है और ना ही इसे सूंघकर पता लगाया जा सकता है। यह गैस पूरी तरह से पर्यावरण के अनुकूल भी होती है जिस वजह से इसे eco-friendly गैस भी बोला जाता है।

## इसे भी पढ़े –

◆ LPG का Full-Form क्या होता है? – Click Here

◆ PNR का Full Form क्या होता है? – Click Here

CNG गैस का आविष्कार :-

CNG यानी की प्राकृतिक गैस का आविष्कार सबसे पहले 1626 में अमेरिका में हुई थी जिसे William Hart के द्वारा खोजा गया था। लेकिन इस गैस का इस्तेमाल 1800 के दशक में वाहनों के लिए ईंधन के रूप में इस्तेमाल किया जाने लगा।

नेचुरल गैस का इस्तेमाल वाहन में सबसे पहले युक्त राज्य अमेरिका में किया गया था और इसके बाद धीरे-धीरे इटली, और यूरोप के कई देशों में CNG गैस का इस्तेमाल किया जाने लगा था।

सीएनजी गैस को बनाने के लिए एक कंप्रेसर के द्वारा 20-25 एमपीए तक का दबाव देना होता है और इसके बाद गोलाकार या बेलनाकार कंटेनरों में संग्रहीत किया जाता है।

CNG गैस के मुख्य अवयव :-

सीएनजी गैस के अंदर 70% रिएक्टिव हैड्रोकॉर्बन और 85% नाइट्रोजन ऑक्साइड होती है। और CNG गैस के मुख्य अवयव मीथेन, ईथेन और प्रोपेन होती है और इनमे से सबसे ज्यादा मात्रा मीथेन की ही होती है।

जैसा की मैंने आपको बताया की सीएनजी गैस के अंदर सबसे ज्यादा मात्रा मीथेन की होती है जिस वजह से सीएनजी गैस को मीथेन गैस के नाम से भी जाना जाता है।

मीथेन एक प्राकृतिक गैस है और यह गैस पूरी तरह से प्राकृतिक प्रक्रियाएं से तैयार होती है, और इन्हीं कारणों के वजह से CNG गैस को प्राकृतिक गैसीय ईधन बोला जाता है। और इसके इस्तेमाल से किसी भी प्रकार की प्रदूषण नहीं फैलती है।

CNG गैस की मुख्य विशेषताएं क्या हैं :-

सीएनजी गैस की मुख्य विशेषताएं कुछ इस प्रकार हैं –

  • CNG एक नॉन-टॉक्सिक गैस है, इसलिए अगर यह गैस लीक भी करता है तो इससे कोई नुकसान नहीं होता है।
  • सीएनजी के अंदर नॉन-करोसिव गुण भी होता है जिस वजह से इस गैस को जिस भी सिलेंडर के अंदर रखा जाता है, उसमे जंग नहीं लगता है।
  • CNG गंधहीन गैस होती है, जिस वजह से इस गैस में कोई गंध नहीं होती है। 
  • CNG रंगहीन गैस होती है, जिस कारण इस गैस का कोई रंग नहीं होता है। 
  • सीएनजी पूरी तरह से प्राकृतिक(नेचुरल) गैसीय ईधन है, इसलिए इसके इस्तेमाल से किसी भी प्रकार की प्रदूषण नहीं फैलती है।

## इसे भी पढ़े –

◆ FIR का Full-Form क्या होता है? – Click Here

◆ JCB का Full Form क्या होता है? – Click Here

CNG और LPG में क्या अंतर है? (Difference Between CNG & LPG)

कई बार बहुत सारे लोग CNG और LPG के अंतर को समझ नहीं पाते है, जिस वजह से उन्हें CNG और LPG के बीच confusion हो जाता है। इसलिए आज मैं आपको इन दोनों में अंतर को बताने वाला हूँ।

  • CNG का मुख्य उपयोग केवल वाहनों के ईधनो के रूप में किया जाता है जबकि LPG का उपयोग खाना बनाने के साथ-साथ वाहन ईंधन में भी किया जाता है।
  • CNG एक प्रकार की नेचुरल गैस है जिसमें मीथेन गैस की मात्रा अधिक होती है जबकि LPG प्रोपेन, ब्यूटेन और अन्य गैसें की मिश्रण से बनी होती है।
  • सीएनजी हवा से भी हल्की होती है और रिसाव होने पर यह ऊपर की ओर उठ जाती है। जबकि LPG हवा से भारी होती है और इसके रिसाव होने पर यह फर्श पर फ़ैल जाती है।
  • सीएनजी उच्च दबाव में भी गैसीय अवस्था में ही रहती है लेकिन एलपीजी उच्च दबाव के कारण तरल अवस्था में बदल जाती है।

CNG का उपयोग क्या है :-

CNG गैस का उपयोग कई अलग-अलग वाहनों के लिए किया जा रहा है। सीएनजी गैस का प्रयोग बड़ी वाहनों के साथ-साथ छोटी वाहनों के लिए भी किया जाता है।

इस गैस का उपयोग ज्यादातर बस, कार, ऑटो, और टैक्सी में किया जाता है क्यूंकि इन सभी वाहनों का इस्तेमाल हर दिन परिवहन के लिए किया जाता है।

सीएनजी गैस पे चलने वाली वाहनों का इस्तेमाल बड़े-बड़े शहरों में किया जा रहा है ताकि प्रदूषण जैसी समस्या से बचा जा सकें और पर्यावण को साफ़-सुथरा बनाया जा सकें।

आज के समय में CNG का उपयोग हर जगह किया जा रहा है और सीएनजी के प्रयोग को हर जगह अधिक से अधिक प्रमोट किया जा रहा है, ताकि प्रदूषण जैसी समस्या से बचा जा सकें।

CNG के फायदे क्या हैं :-

CNG इस्तेमाल करने के बहुत सारे फायदे हैं जिनमे से कुछ फायदे इस प्रकार हैं –

  • सीएनजी पर्यावरण के अनुकूल गैसीय ईधन है क्योंकि इसके इस्तेमाल से किसी भी प्रकार की प्रदूषण नहीं फैलती है।
  • सीएनजी 540 डिग्री सेल्सियस या उससे अधिक का उच्च ऑटो इग्निशन तापमान प्रदान करता है।
  • CNG पे चलने वाली गाड़ी की रखरखाव लागत बहुत कम होती है।
  • सीएनजी पेट्रोल और डीजल से सस्ता है।
  • CNG से चलने वाले वाहनों की परिचालन लागत, दूसरे ईंधन से चलने वाले वाहनों की तुलना में कम होती है।
  • सीएनजी से चलने वाली वाहन किसी अन्य ईंधन पर चलने वाले वाहनों की तुलना में कम शोर करती है।

## इसे भी पढ़े –

◆ WiFi का Full-Form क्या होता है? – Click Here

◆ OK का Full Form क्या होता है? – Click Here

CNG के नुकसान क्या हैं :-

CNG के नुकसान तो कम है लेकिन कुछ परिस्थिति में इसके कुछ नुकसान हैं –

  • सीएनजी एक गंधहीन गैस है। इसलिए कभी CNG गैस लीक होती है तो Leakage का पता लगना मुश्किल हो जाता है।
  • सीएनजी टैंक के लिए बड़ी जगह की जरूरत होती है और यह काफी भारी भी होता है, जिस वजह से ये वाहनों के प्रदर्शन को प्रभावित करता है।
  • अभी के समय सीएनजी गैस स्टेशनों की उपलब्धता सीमित है।
  • सीएनजी गैस किट की कीमत 20000 रुपये से 30000 रुपये के बीच होती है।

FAQs (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल):-

Q1. CNG का पूरा नाम (फुल फॉर्म) क्या है?

सीएनजी का पूरा नाम Compressed Natural Gas” है, इसे हिंदी में संपीडित प्राकृतिक गैस” कहा जाता है।

Q2. CNG के मुख्य घटक क्या है?

सीएनजी में मीथेन, नाइट्रोजन, कार्बन डाइऑक्साइड, प्रोपेन और ईथेन जैसे गैस शामिल होता है, और इन्हीं तीनों गैस को सीएनजी के मुख्य घटक माना जाता है।

Q3. क्या CNG का इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

हाँ, यह सुरक्षित है। सीएनजी के गुण तथा विशेषता इसे एक सुरक्षित ईंधन बनाते हैं। यह हवा से हल्की होती है, इसलिए रिसाव की स्थिति में यह ऊपर उठकर वातावरण में फैल जाती है।

Q4. क्या CNG का इंजन पर कोई हानिकारक प्रभाव पड़ता है?

CNG का इंजन पर कोई हानिकारक प्रभाव नहीं पड़ता है। सीएनजी की विशिष्ट विशेषताओं के कारण, यह क्रैंककेस तेल को दूषित या पतला नहीं करता है, जिससे इंजन पर कोई हानिकारक प्रभाव नहीं पड़ता है।

Q5. क्या CNG किट को सर्विसिंग की आवश्यकता है?

सीएनजी किट बिल्कुल सुरक्षित और सरल है। यह वर्षों की परेशानी से मुक्त संचालन देता है और इसे बार-बार सर्विसिंग की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

## इसे भी पढ़े –

◆ CCTV का Full-Form क्या होता है? – Click Here

◆ EWS का Full Form क्या होता है? – Click Here

आज आपने क्या सीखा :-

आज के इस आर्टिकल में हमनें CNG के बारे में बहुत कुछ जाना है, हमने CNG Full Form, CNG ka full form, full form of  CNG, CNG gas full form, CNG long form, CNG क्या है, CNG का उपयोग, CNG के फायदे, इत्यादि के बारे में बात किया है।

मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल में बतायी गयी सारी बातें आपको अच्छी लगी होगीं और सब कुछ समझ आ गया होगा। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको CNG के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे CNG से रिलेटेड कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो नीचे comment कर के पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब हो तो भी आप बता सकते हैं।

अगर हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हों तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।


Saurav Bhagat

I am a passionate Blogger, Content Writer, SEO expert, and Freelancers.

0 Comments

Leave a Reply