ITI Full Form In Hindi – ITI का Full-Form क्या होता है?

Published by Saurav Bhagat on

ITI Full Form, ITI ka Full Form, ITI Full Form In Hindi, full form of ITI, ITI क्या है, ITI कैसे करे, ITI करेने के क्या फायदे हैं, इत्यादि जैसे सारे सवालों का जवाब आपको इस पोस्ट में मिल जाएगा।

आज आपको इस आर्टिकल में ITI से संबंधित सारी जानकारी मिलने वाली हैं, इसलिए आप इस article को शरू से लेकर अंत तक बहुत ही ध्यान से पढ़िए ताकि आपको सबकुछ अच्छे से समझ आ जाए।

अक्सर लोगों को ITI और IIT में बहुत ज्यादा confusion रहता हैं, क्युकी इसमें केवल एक letter ka placement आगे-पीछे होता हैं, जिसके कारण बहुत से लोगों को confusion हो जाता हैं।

ITI और IIT में बहुत ज्यादा अंतर होता हैं, जहाँ ITI professional ट्रेनिंग कोर्सेज करवाती हैं वहीं दूसरी तरफ IIT एक 4 साल की course होती हैं, जिसे B-Tech के नाम से जाना जाता हैं।

आज के समय में ITI बहुत ही popular courses बन चुकी हैं क्यूंकि यहां पे आपको theory से ज्यादा practical जानकारी दी जाती हैं और आपके स्किल्स को बढ़ाने पे फोकस किया जाता हैं।

अगर आपने 10th या 12th पास कर लिया हो और आपको समझ नहीं आ रहा हैं की अब आगे मुझे कौन सा course करना चाईए तो आपको एक बार ITI के बारे में जरूर जान लेना चाईए।

क्यूंकि यहां पे आपको बहुत सारे courses के options  मिल जाते हैं और इसकी पढ़ाई पूरी तरह से practical knowledge पे आधारित होते हैं।

चलिए अब जानते हैं की ITI का पूरा नाम क्या है या ITI का Full Form क्या होता हैं और ITI के बारे में सम्पूर्ण जानकारी।

ITI Full Form

ITI Full Form In English :-

ITI का Full फॉर्म “Industrial Training Institute” होता है।

IIndustrial

TTraining

IInstitute

What is the full form of ITI? – Full Form of ITI is “Industrial Training Institute”

ITI Full Form In Hindi :-

IIndustrial (औद्योगिक)

TTraining (प्रशिक्षण)

IInstitute( संस्थान)

अब आपको ITI का फुल फॉर्म हिंदी और इंग्लिश दोनों में ही पता चल गया होगा, तो अब चलिए अब जानते हैं की ITI क्या है।

ITI क्या है (ITI full meaning):-

ITI एक प्रकार का institute या एक industrial कोर्स होता है, जिसमे छात्रों को industry के हिसाब से पढाई जाती हैं और industrial के स्तर पर काम करने योग्य बनाया जाता है।

इस कोर्स में आपको theory से ज्यादा प्रैक्टिकल नॉलेज प्रदान कराई जाती हैं और स्किल्स के बेस्ड पे knowledge दिया जाता हैं ताकि स्टूडेंट्स के पास डिग्री के साथ-साथ किसी विशेष क्षेत्र में हुनर आ जाये। 

इसे भारत में एक माध्यमिक विद्यालय के नाम से भी जाना जाता है जो Training और Ministry of Employment भारत सरकार के प्रशिक्षण महानिदेशालय (DGET) के द्वारा स्थापित किया गया है।

आज के समय में ITI Electrical, Mechanical, Computer Hardware, Refrigeration, and Air Conditioning, Carpentry, Plumbing, Welding, इत्यादि जैसे Trades या courses में Training प्रदान करवाता है।

ITI विशेष रूप से कक्षा 10 वीं  के उत्तीर्ण  छात्रों को तकनीकी ज्ञान और skills प्रदान करवाने के लिए स्थापित किए गए हैं और इसकी course की अवधि 1 से 2 साल तक की होती है।

ITI Trade क्या है :-

आपलोगो ने ITI ट्रेड के बारे में पहले कई बार सुना भी होगा और आपने जानने की भी कोशिश की होगी लेकिन अगर आपको अभी तक ITI trade के बारे में पता नहीं है तो आज मैं आपको ITI trade के बारे में सब कुछ बताने वाला हूँ।

जैसे सभी program के लिए अलग-अलग courses होते हैं उसी प्रकार से आईटीआई के भी अलग-अलग तरह के ट्रेनिंग प्रोग्राम होते हैं, उन्ही को आईटीआई ट्रेड कहा जाता है।

हर trade में आपको विशेष तरह की skills सिखाई जाती हैं और इनसे रिलेटेड practically नॉलेज भी दी जाती हैं, जिससे आपको अपने ट्रेड से रिलेटेड काम करने में कोई समस्या नहीं आती हैं।

ITI Trade के प्रकार :-

ITI ट्रेड दो प्रकार के होते हैं

1. Engineering Trades 

2. Non-engineering Trades

Engineering Trades पूरी तरह से technical के आधार पर होता हैं और इस ट्रेड के अंदर विषेशकर गणित, विज्ञान और टेक्नोलॉजी जैसे विषय की पढ़ाई करवाई जाती हैं।

जबकि Non-engineering ट्रेड्स technical के आधार पर नहीं होता हैं और इसमें गणित और विज्ञान जैसे विषयों की पढ़ाई नहीं करवाई जाती हैं।

ITI आपको 100 से भी ज्यादा courses करने की सुविधा प्रदान करवाता हैं और आप इनमे से अपने पसंद की कोई सी भी कोर्स कर सकते हैं।

Trade Course कैसे चुने :-

ITI में एडमिशन लेने के बाद सबसे ज्यादा जरुरी काम अपने पसंद के ट्रेड को चुनना होता हैं, ताकि आप उसमें अच्छे से चीज़ों को सिख सकें।

आपको trade चुनने से पहले बहुत सोच विचार कर लेना चाईए और केवल अपने रुचि के हिसाब से ही ITI के ट्रेड course को चुनना चाईए, क्यूंकि जब आप एक बार ट्रेड चुन लेते हैं तो आपको उसी ट्रेड के आधारित काम सिखाया जाता हैं।

और आगे इसी से आधारित काम भी करना पड़ता हैं, इसलिए आप जो ट्रेड चुनेंगे उसमे आपका रूचि होना बहुत ही जरुरी हैं ताकि आपको काम करने वक़्त आनंद आ सके।

आपको trade course सेलेक्ट करने से या फिर एडमिशन लेने से पहले पता लगा लेना चाईए की कौन से colleges  में कौन-कौन से ट्रेड करवाए जाते हैं क्यूंकि सभी trades सभी colleges में नहीं करवाए जाते हैं।

अब आप अच्छे से समझ गए होंगे की ट्रेड कोर्स कैसे चुना जाता हैं, तो चलिए अब जानते हैं की ITI में एडमिशन लेने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए

## इसे भी पढ़े –

◆ CPU का Full-Form क्या होता है? – Click Here

◆ WiFi का Full Form क्या होता है? – Click Here

ITI में एडमिशन लेने के लिए योग्यता :-

ITI में एडमिशन लेने से पहले आपको कुछ आवश्यक योग्यता जान लेनी चाहिए ताकि आपको बाद में कोई समस्या न हो।

जैसा की आपलोगों को पता ही होगा की ITI में  class 8th से लेकर 12th तक के छात्र एडमिशन ले सकते हैं।

इसमें एडमिशन लेने के लिए आप किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10 वीं कक्षा उत्तीर्ण होना जरुरी हैं और 10 वीं कक्षा में कम से कम 35% अंक होने जरुरी हैं।

अब आपको ITI में एडमिशन लेने के लिए क्या-क्या योग्यता की जरुरत हैं के बारे में अच्छे से पता चल गया होगा और अब आगे बात करते हैं की ITI करने के लिए कितने फीस लगते हैं

ITI करने की फीस :-

आईटीआई की फ़ीस बाकी सभी colleges की तुलना में बहुत ही कम हैं और अगर आप किसी आईटीआई कोर्सेज को सरकारी कॉलेज  से करते हैं तो इसकी फीस ना के बराबर लगती हैं।

अगर कोई ITI के courses private college से करना चाहता हैं तो इसमें सरकारी कॉलेज से ज्यादा पैसे लगते हैं और private कॉलेज की फीस अलग-अलग कॉलेज के अलग-अलग होतें हैं।

◆ MMS का Full Form क्या होता है? – Click Here

ITI Course List :-

ITI के अंदर 100 से भी ज्यादा courses किया जा सकता हैं, लेकिन मैं आपको कुछ Popular courses के नाम बताने वाला हूँ, जिनसे आप ITI कर सकते हैं।

  • Electrician
  • Fitter
  • Plumber
  • Carpenter
  • Wireman
  • Turner
  • Machinist
  • Moulder
  • Stenography
  • Sheet Metal Worker
  • Forger & Heat Treater
  • Mechanic Agriculture
  • Mechanic Radio & T.V.
  • Computer Technician
  • Draughtsman Mechanical
  • Baker And Confectioner
  • Tool And Die Maker
  • Mason Building Constructor
  • Mechanic Machine Tools Maintenance
  • Pattern Maker
  • Refrigeration

इनके अलावा भी बहुत सारे ऐसे पॉपुलर courses हैं, जिनसे आप ITI कर सकते हैं।

Popular ITI Colleges in India :-

ITI course’s करवाने वाले कुछ पॉपुलर Colleges के नाम इस प्रकार हैं –

  • Indian Institute of Technology Mumbai

  • Indian Institute of Technology Kanpur

  • IIT Madras

  • Indian Institute of Technology Guwahati

  • Indian Institute of Technology Patna

  • IIT Delhi

  • Indian Institute of Technology Ropar

  • Indian Institute of Technology Roorkee

  • IIT BHU

  • Indian Institute of Technology Kharagpur

  • Indian Institute of Technology Bhubaneshwar

  • IIT Gandhi Nagar

  • Indian Institute of Technology Jodhpur

  • Indian Institute of Technology Bhilai

  • IIT Mandi

इनके अलावा भी बहुत सारे प्राइवेट और सरकारी colleges  हैं जो आपको ITI करने के सुविधा प्रदान करवाते हैं।

## इसे भी पढ़े –

◆  IIT का Full-Form क्या होता है? – Click Here

◆ JEE का Full Form क्या होता है? – Click Here

ITI करने के बाद Job Options :-

जब आपलोग आईटीआई कर लेते हैं तो सबसे पहले आप jobs के बारे में ही सोचते होंगे की job कैसे मिलेगा और jobs के क्या-क्या options हो सकते हैं। लेकिन आपको चिंता करने की कोई जरुरत नहीं हैं क्यूंकि मैं आपको आज इसके बारे में सब कुछ बताने वाला हूँ।

आज के समय में प्राइवेट और सरकारी दोनों ही जगहों पे ITI करने वालों की माँग हैं क्यूंकि आज हर कोई डिग्री के साथ-साथ स्किल्स के आधार पर काम दे रहा हैं।

आपको ITI करने के बाद खुद से ही jobs के लिए apply करने होंगे जो आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही तरीकों से कर सकते हैं।

आपको ऑनलाइन बहुत सारे websites मिल जाएंगे जिसपे आप अपना Resume अपलोड कर सकते हैं, इसके बाद अगर आपका प्रोफाइल किसी कंपनी को अच्छा लगे तो वह कंपनी वाला आपको जॉब दे सकता हैं।

कुछ पॉपुलर जॉब अलर्टस वेबसाइट जिसमें आप sign up कर सकते हैं :-

  • Naukri
  • Shine
  • Indeed
  • TimesJobs
  • Monster India
  • Jooble

ITI करने के फायदे :-

ITI करने के फायदे कुछ इस प्रकार हैं :

  • आईटीआई में एडमिशन लेने के लिए केवल कक्षा 10 वीं तक पास होना जरुरी है।
  • इसमें आपको प्रैक्टिकल नॉलेज के साथ स्किल्स भी सिखाया जाता है।
  • ITI कोर्स करने के फीस बहुत ही काम हैं और सरकारी कॉलेज में न के बराबर है।
  • ITI के कोर्स को पूरा करने के बाद आपको आसानी से नौकरी मिल जाती है।
  • यह आपको 100 से भी ज्यादा courses करने के options देता है।

आज आपने क्या सीखा :-

आज के इस article में हमनें ITI के बारे में बहुत कुछ सीखा हैं, हमने ITI Ka Full Form क्या है, full form of ITI, आईटीआई क्या है, ITI कैसे करे, ITI करने के क्या फायदे हैं, इत्यादि के बारे में बात किया हैं।

मुझे उम्मीद है की इस article में बताये गए ITI से रिलेटेड सारी जानकारी आपको समझ आ गए होंगे और आपको आईटीआई के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे ITI से सम्बंधित कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो नीचे comment सेक्शन में पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब देना चाहते हैं तो भी आप बता सकते हैं।

अगर आपको हमारा इस post से कुछ नई जानकारी मिली हो तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Please Share :-


Saurav Bhagat

I am a passionate Blogger, Content Writer, SEO expert, and Freelancers.

2 Comments

Abhishek · July 10, 2021 at 11:15 am

Great article.
Keep it up Bro.

Leave a Reply