NGO Ka Full Form क्या है? – NGO Full Form In Hindi

Spread the love

हेलो दोस्तों, आज मैं आपको NGO full form in hindi, NGO ka full form, NGO in hindi, NGO क्या है, NGO के प्रकार, NGO के कार्य, इत्यादि के बारे में बताने वाला हूँ।

दोस्तों आपलोगो ने भी कभी न कभी NGO का नाम तो जरूर सुना होगा और आपने कई सारे पॉपुलर NGO के नाम भी सुना होगा, लेकिन क्या आपको NGO का फुल फॉर्म पता है?

आपमें से ऐसे बहुत सारे लोग होंगे जिन्हें NGO का फुल फॉर्म पता होगा और साथ ही NGO के बारे में सारी जानकारी भी पता होंगी लेकिन फिर भी ऐसे बहुत लोग होंगे जिन्हें इन सभी के बारे में कुछ भी पता नहीं होता है।

आज के समय में दुनिया भर में कई सारे NGO के फाउंडेशन, ट्रस्ट, और संस्था खुल चुके है और अगर भारत की ही बात की जाए तो पुरे भारत में कई सारे NGO खुल चुके हैं।

अगर आपको इसके बारे में नहीं पता है तो कोई बात नहीं क्यूंकि आज मैं आपको NGO full form के अलावा इनसे जुड़ी सारी जानकारी बताने वाला हूँ।

इसलिए आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़िए ताकि आपको NGO के बारे में सारी जानकारी अच्छे से पता चल सकें।

NGO Ka Full Form

NGO Ka Full Form –

एनजीओ का फुल फॉर्म “Non Governmental Organization” होता है। एनजीओ को हिंदी में “गैर सरकारी संगठन” बोला जाता है।

NGO Full Form In English –

एनजीओ का फुल फॉर्म इंग्लिश में “Non Governmental Organization” होता है।

N – Non

G – Governmental

O – Organization

◆ What is the full form of NGO? – Full Form of NGO is “Non Governmental Organization

NGO Full Form In Hindi –

एनजीओ का फुल फॉर्म हिंदी में गैर सरकारी संगठन होता है।

N – Non (गैर)

G – Governmental (सरकारी)

O – Organization (संगठन)

NGO क्या है? (NGO kya hai)

एनजीओ एक निजी संगठन या गैर सरकारी संगठन होता है यानी की यह एक ऐसा आर्गेनाईजेशन होता है जो किसी भी Government के द्वारा संचालित नही की जाती है।

इसके अंदर लोगो के द्वारा अलग-अलग प्रकार से मदद की जाती है और साथ ही सामाजिक काम किये जाते हैं। इसमें छोटे बच्चों, महिलाओं, बुजुर्ग, गरीबों, और जरूरतमंद लोगों के लिए काम किया जाता है।

एनजीओ चलाने वाले लोगों का केवल एक ही उद्देश्य होता है की ज्यादा से ज्यादा गरीबों और जरूरतमंद लोगो को मदद की जाए। इसमें सरकार की कोई हस्तछेप नही होती है और ना ही यह कोई फायदे के लिए चलायी जाती है।

अभी के समय भारत मे लगभग 20 लाख से भी ज्यादा NGO खुल चुके है और इनकी संख्या धीरे-धीरे बढ़ती जा रही है। भारत के अंदर कई सारे पॉपुलर NGO चल रहे हैं जैसे – स्माइल फ़ाउंडेशन, गूंज, अक्षय ट्रस्ट, प्रथम, उदय फाउंडेशन, उड़ान वेलफेयर फाउंडेशन, आदि।

NGO एक बहुत बड़े Group का Organization होता है जिस पर लोग World Wide Range पर काम करते हैं लेकिन कुछ लोग संयुक्त एनजीओ नही खोल के Individual NGO खोलते हैं और उसपे काम करते हैं।

NGO कैसे काम करता है?

एनजीओ को चलाने के लिए सबसे पहले आपको इसे रजिस्टर्ड करवाना होता है और इसे चलाने के लिए कम से कम आपके पास 10 या इससे ज्यादा लोग होने चाहिए।

एनजीओ कई लोगो के एक ग्रुप बनाकर काम करता है और सभी गरीब और जरूरतमंद लोगों की मदद करता है। इसके अंदर काम करने वाले सभी लोगो का उद्देश्य समाज का कल्याण करना होता है।

NGO के प्रकार

NGO कई प्रकार के होते हैं जिनमे से कुछ NGO के नाम इस प्रकार हैं –

  • CSO – Civil Society Organization
  • SCO – Social change Organization
  • INGO – International Non Government Origination
  • ENGO – Environmental NGO
  • MANGO – Market Advocacy NGO

NGO के कार्य

एनजीओ के अंदर निम्नलिखित कार्य होते हैं जो कुछ इस प्रकार हैं –

  • इसके माध्यम से गरीब और जरूरतमंद लोगों की मदद की जाती है।
  • NGO की मदद से विभिन्न प्रकार के समाज कल्याण और मानव कल्याण के कार्य किये जाते हैं।
  • इसकी मदद से लोगों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना होता है।
  • NGO सभी बच्चों, महिलाओं, बुजुर्ग, गरीबों, और जरूरतमंद लोगों के लिए काम करता है।
  • एनजीओ सभी तरह की बीमारी में लोगों को मदद करता है और सभी का इलाज अच्छे से करवाता है।
  • एनजीओ महिलाओं को विभिन्न तरह से मदद करता है जैसे – उनके अधिकारों की रक्षा करना वित्तीय मदद करना कानूनी मदद करना आदि।
  • NGO शिक्षा के क्षेत्र में भी कई सारे काम करता है जैसे – गरीब छात्रों को वित्तीय सहायता प्रदान करना, सभी जरूरतमंद छात्रों को पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करना और उसे पढ़ाना।
  • एनजीओ में सभी तरह के छोटे से बड़े सभी समस्या का समाधान किया जाता है।

NGO कैसे बनाया जाता है?

NGO कैसे बनाये जाते हैं, इससे पहले आपको यह समझ लेना चाहिए की आप NGO क्यों खोलना चाहते हैं और इसे खोलने के पीछे का क्या उद्देश्य है।

जब आपको इन सारे सवालों के जवाब अच्छे से पता चल जाता है तो इसके बाद आप बहुत ही अच्छे से NGO बनाने का प्लान बना सकते हैं और इसे अच्छे से चला सकते हैं।

अब अगर आप सुच-मच में NGO बनाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले NGO बनाने के बहुत सारे नियम को समझना होता है और उनका पालन करना होता है।

आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की NGO बनाने कि प्रक्रिया सभी State में अलग-अलग होती है और इन्हीं सब नियमों का पालन करके आप एनजीओ बना सकते हैं।

NGO बनाने के लिए आपको एक टीम बनानी होगी जो NGO को अच्छे से संभाल पाए और इस टीम में लिए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, सचिव, कोषाध्यक्ष, सलाहकार सदस्य, आदि सदस्य तय करने होते है।

NGO का गठन करने के लिए आपके पास कम से कम 11 लोगो का होना बहुत ही आवश्यक है, ताकि NGO के अच्छे से चलाया जा सकें और एनजीओ बनाते समय आपको अपने NGO के लिए उद्धेश्य और सभी नियम की एक लिस्ट तैयार कर लेनी चाहिए।

एनजीओ के अंदर आने वाले सारे सदस्यों को अपने rights पता होने चाहिए और NGO का गठन करने के लिए सभी के signature और सभी सदस्यों कि मंजूरी होनी चाहिए।

भारत के लोकप्रिय एनजीओ के नाम

अब चलिए भारत के कुछ लोकप्रिय एनजीओ के नाम जानते हैं –

  • स्माइल फाउंडेशन (Smile Foundation)
  • सम्मान फाउंडेशन (Sammaan Foundation)
  • उदय फाउंडेशन (Uday Foundation)
  • उड़ान वेलफेयर फाउंडेशन (Udaan Welfare Foundation)
  • गूंज (Goonj)
  • करमायोग (Karmayog)
  • अक्षय ट्रस्ट (Akshya Trust)
  • सरगम संस्था (Sargam Sanstha)
  • लेपरा सोसायटी (LEPRA Society)
  • हेल्पएज इंडिया (HelpAge India)
  • प्रथम (Pratham)
  • दिपाल्य (Deepalaya)

इंटरनेशनल के टॉप एनजीओ के नाम –

  • BRAC
  • CARE International
  • Oxfam
  • PATH
  • Partners in Health
  • International Rescue Committee
  •  Danish Refugee Council

FAQs: NGO Ka Full Form

Q: NGO Ka Full Form क्या है?

Ans: NGO का फुल फॉर्म “Non Governmental Organization” है।

Q: NGO के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या है?

Ans: अगर आप NGO के लिए रजिस्टर कर रहे है तो आपके पास कुछ आवश्यक डाक्यूमेंट्स होने चाहिए जैसे – आईडी प्रूफ (वोटर आईडी / आधार कार्ड), निवास प्रमाण, पंजीकृत कार्यालय का पता प्रमाण, एसोसिएशन विनियमन के लेख, राष्ट्रपति से शपथ पत्र, पासपोर्ट (अनिवार्य), इत्यादि।

Q: NGO की स्थापना कब हुई?

Ans: एनजीओ की स्थापना 17 अप्रैल 2010 को हुई थी। सन 27 फरवरी 2014 को पहली बार विश्व एनजीओ दिवस मनाया गया था।

आज आपने क्या सीखा –

आज के इस आर्टिकल में हमनें NGO के बारे में बहुत कुछ जाना है, हमने NGO full form in hindi, NGO ka full form, NGO in hindi, NGO ka matlab, NGO क्या है, NGO के प्रकार, NGO के कार्य, इत्यादि के बारे में बात किया है।

मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल में बतायी गयी सारी बातें आपको अच्छी लगी होगीं और सब कुछ समझ आ गया होगा। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे NGO से रिलेटेड कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो नीचे comment कर के पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब हो तो भी आप बता सकते हैं।

अगर हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हों तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Read Also –

◆ ISO का Full Form क्या है?

 OPD का Full Form क्या है?

 GST का Full Form क्या है?

◆ UPI का Full Form क्या है?

Landmark Ka Matlab क्या होता है?

 Happy Journey का मतलब क्या होता है?


Spread the love

Leave a Comment

Bhediya Box Office Collection: बॉक्स ऑफिस पर रफ़्तार हुयी भेड़िया … Drishyam 2 Box Office Collection: बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रही… जानिए Bits Pilani कॉलेज के बारे में पूरी जानकारी जानिए ISKCON Temple के बारे में सभी जानकारी FIFA world cup 2022: जानिए फीफा वर्ल्ड कप के बारे में पूरी जानकारी