On-Page SEO क्या है – On-Page SEO Techniques In Hindi 2021

Published by Saurav Bhagat on

नमस्कार दोस्तों, इस आर्टिकल में आप सीखेंगे की On-page SEO क्या है, On-page SEO क्यों जरुरी है, On-page SEO कैसे करते हैं, इत्यादि के बारे में सीखेंगे।

आज के समय में अगर आप किसी blog को गूगल या किसी भी सर्च इंजन में रैंक करवाना चाहते हैं, तो आपको अपने blog पोस्ट को अच्छे से On-page SEO करना बहुत जरुरी है।

अगर आप एक अच्छा सा आर्टिकल लिखते हैं और इसकी अच्छे से On-page SEO करते हैं, तो आप बिना Off-page SEO किये बिना भी आप अपने पोस्ट को गूगल के first page पर रैंक करवा सकते हैं।

On-page SEO करने के लिए आपको बहुत सारे factors पे काम करना होता है लेकिन सबसे अच्छी बात यह है की On-page SEO का सारा काम आपके अंदर ही आता है और आप इसे खुद से ही और बहुत आसानी से कर सकते हैं।

तो On-page SEO के factors को जानने से पहले, यह जान लेते हैं की On-page SEO होता क्या है?

On-page SEO क्या है

On-Page SEO क्या है :-

On-Page SEO एक ऐसी तकनीक होती है जिसकी मदद से हम अपने ब्लॉग पोस्ट को गूगल या किसी भी सर्च इंजन में रैंक करवाने के लिए ऑप्टिमाइज़ करते हैं।

इस On-Page SEO के मदद से ही आप अपने ब्लॉग के पोस्ट को गूगल के सर्च रिजल्ट में सबसे पहला पेज के पहले पोजीशन पर लेकर आ सकते हैं।

अगर आसान शब्दों में कहा जाए तो जिस आर्टिकल या पोस्ट को लिखते समय जिन तकनीक का इस्तेमाल करते हैं उन्हें ही On-Page SEO कहा जाता है और यह तकनीक केवल पोस्ट लिखने के वक़्त ही किया जा सकता है।

इस तरह के SEO इसलिए किया जाता है ताकि आपका ब्लॉग पोस्ट अच्छे से ऑप्टिमाइज़ हो जाए और गूगल में आर्टिकल रैंक हो पाए और कभी-कभी गूगल का core update भी आये, तो भी आपका पोस्ट प्रभावित नहीं हो पायेगा।

इससे पहले वाले पोस्ट में हमने SEO के बारे में बात किया था की SEO क्या है और इसे कैसे करते हैं और उसमें ये भी बताया था की SEO तीन प्रकार के होते हैं जिनमे से एक On-Page SEO भी शामिल था।

On-Page SEO करने के लिए आपको बहुत से factors पे काम करना होता है जैसे Tittle, Meta Description, Permalinks, Text Length, Internal Links, इत्यादि सारे factors पर काम करना जरुरी होता है।

On-Page SEO क्यों जरुरी है :-

अब आप On-Page SEO क्या होता है, के बारे में सब कुछ अच्छे से जान लिए होंगे तो अब चलिए जानते हैं की On-Page SEO हमारे ब्लॉग पोस्ट के लिए क्यों जरुरी होता है।

On-Page SEO हमारे ब्लॉग पोस्ट या आर्टिकल के लिए इसलिए जरुरी होता है ताकि हम अपने ब्लॉग पोस्ट को गूगल में रैंक करवा पाए और अपने आर्टिकल को गूगल के पहला पेज पे ला सकें।

आज के समय में सभी लोग कुछ भी जानकारी पता लगाने के लिए गूगल का इस्तेमाल करते हैं और गूगल पर एक तरह की जानकारी के लिए बहुत सारे आर्टिकल मौजूद हैं और उन सबमे अगर आपका भी आर्टिकल हैं तो आपको On-Page SEO करने की बहुत जरुरत पड़ने वाली है

अगर आपको भी अपने ब्लॉग पोस्ट को गूगल में पहला पेज पर लेकर आना है तो आपको SEO बहुत अच्छे से सीखना पड़ेगा और साथ ही आपको On-Page SEO में एक्सपर्ट बनना पड़ेगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दूँ की On-Page SEO करने से एक नहीं बल्कि बहुत सारे फायदे होते हैं एक तो आपका ब्लॉग पोस्ट गूगल में पहले पेज पे रैंक करता है और इसके अलावा आपके वेबसाइट पर Traffic भी बढ़ने लगती है और साथ ही आपके वेबसाइट का डोमेन authority और पेज authority भी बढ़ती है, जिसके कारण वेबसाइट के हर चीज़ में इम्प्रूवमेंट होने लगती है।

On-Page SEO के अंदर बहुत सारे factors आते हैं जिन्हे समझना बहुत जरुरी है और इसे सीखकर अपने ब्लॉग पोस्ट पर अप्लाई करना बहुत ही जरुरी है इसलिए चलिए अब सीखते हैं की इसे कैसे किया जाता है।

On-Page SEO कैसे करते हैं :-

तो चलिए अब जानते हैं की On-Page SEO कैसे करते हैं और सीखते हैं की प्रक्टिकली किन तरीकों से On-Page SEO अच्छे से कर सकते हैं।

नीचे कुछ महत्वपूर्ण On-Page SEO तकनीक के बारे में बताने जा रहा हूँ जिसे आप बहुत ही ध्यान से पढ़े और इसे सीखकर अपने ब्लॉग पोस्ट पे जरूर apply करें।

1. Title Tags :-

Title हमारे ब्लॉग पोस्ट का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है जिसमें article के बारे में heading लिखना होता है और इसमें Target keyword को भी डालना बहुत जरुरी होता है।

आप कोशिश करें की Title को ज्यादा से ज्यादा यूनिक और अट्रैक्टिव बना सकें ताकि यूजर देखते ही आपके पोस्ट को क्लिक करें और आपको ध्यान रखना चाहिए की आप जो Title में लिखे हैं, उनसे ही संबंधित जानकारी पोस्ट में होनी चाहिए।

आपको Title में सही तरीकों से टारगेट कीवर्ड का इस्तेमाल करना चाहिए और आप कोशिश करें की आप अपने टारगेट कीवर्ड को टाइटल के शरू में रखें।

Title का इस्तेमाल हमेशा H-1 टैग में ही करें और Title के अलावा किसी भी heading का इस्तेमाल H-1 में ना करें।

2. Meta Description :-

Description आपके ब्लॉग पोस्ट के summary को बताता है इसलिए आपको description को user friendly और attractive रखना है ताकि user आपके पोस्ट को देखते ही click कर दे।

Meta Description को इस तरह से लिखना है की आपका target keyword, description में अच्छे से आ जाए ताकि description optimize हो सकें और आपका पोस्ट आसानी से रैंक भी कर जाएगा।

Google के अनुसार description की length 150-170 वर्ड्स के बीच ही होना चाहिए।

3. Permalink :-

जिस तरह Title, description हमारे ब्लॉग के लिए जरुरी होता है ठीक उसी प्रकार से permalink भी हमारे ब्लॉग पोस्ट के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है।

Permalink को बहुत अच्छे से ऑप्टिमाइज़ करना चाहिए और इसमें भी target keyword को जरूर add करना चाहिए जिससे की आपका permalink यूजर फ्रेंडली लग सकें।

आपको permalink को छोटा रखना चाहिए और permalink में हमेशा english letter का ही इस्तेमाल करना चाहिए क्यंकि ये आपके पोस्ट को rank करने में बहुत ज्यादा मदद करता है।

4. Headings/Subheading :-

Heading और subheading आपके ब्लॉग पोस्ट के लिए बहुत ही मत्वपूर्ण हैं क्यूंकि आप इसमें ही अपने कंटेंट के heading को लिखते हैं जो आपके आर्टिकल के लिए बहुत ही मत्वपूर्ण होता है।

H-1 टैग को heading बोला जाता है और इसमें केवल Title लिखा जाता है और बाकी के H-2,3,4,5,6 टैग को subheading बोला जाता है जिसका इस्तेमाल content को छोटे छोटे हिस्सों में break कर के लिखने में किया जाता है।

आपको Heading और subheading दोनों में ही target keyword का इस्तेमाल करना है लेकिन ध्यान रहे की ज्यादा टारगेट कीवर्ड का इस्तेमाल करना भी सही नहीं होता है।

5. Add video :-

आज के समय में सभी text से ज्यादा video के format में information लेना पसंद करते हैं क्यूंकि वीडियो में आसानी से और जल्दी से समझ आ जाता हैं।

इसलिए आप अपने ब्लॉग पोस्ट से रिलेटेड वाला वीडियो को जरूर ऐड करें ताकि यूजर ज्यादा से ज्यादा समय आपके वेबसाइट पे बिताएं और अगर आपकी खुद की वीडियो नहीं है तो आप किसी भी यूट्यूब वीडियो को अपने पोस्ट में embed कर सकते हैं।

आप जो भी वीडियो ऐड करें वो आपके ब्लॉग पोस्ट से रिलेटेड होना चाहिए ताकि यूजर text के साथ-साथ वीडियो भी देखें जिससे यूजर आपके साइट पे ज्यादा से ज्यादा से समय बीता सकेंगे।

6. Alt text :-

Alt text या alternative टेक्स्ट images का SEO करने का तरीका है जिससे सर्च इंजन को images के बारे में पूरी जानकारी पता चल पाता है और आपके ब्लॉग पोस्ट के images को रैंक भी करता है।

इसका इस्तेमाल images को describe करने के लिए किया जाता है ताकि अगर किसी को images show ना हो तो उसके जगह वो लिखा हुआ पढ़ पाए। यह तरीका user और bot दोनों के लिए ही सही होता है।

जब किसी image को describe कर रहे होते हैं तो उसमें target keyword को जरूर ऐड करें ताकि आपका image भी सर्च इंजन में रैंक कर पाए।

7. Keywords Density :-

keyword density का मतलब होता है की आप अपने पुरे ब्लॉग पोस्ट में कितने target keyword का इस्तेमाल किया हुआ है और इसका इस्तेमाल ना ज्यादा करना सही है और ना ही कम।

इसका इस्तेमाल आप अपने ब्लॉग पोस्ट में natural way में कीजिए ताकि यूजर को ऐसा नहीं लगना चाहिए की आपने जबरदस्ती keyword का इस्तेमाल किया हुआ है।

आप अपने ब्लॉग पोस्ट के अंदर Keyword density का इस्तेमाल maximum 2.5% ही करनी चाहिए जिससे आपका पोस्ट अच्छे से ऑप्टिमाइज़ हो सकें।

8. Outbound and Internal Links :-

Internal और Outbound links हमारे वेबसाइट के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है और इसका ब्लॉग पोस्ट में होना बहुत ही जरुरी है।

Outbound links का मतलब होता है किसी दूसरे के वेबसाइट के ब्लॉग पोस्ट के लिंक को अपने पोस्ट में ऐड करना और internal links का मतलब होता है की अपने ही वेबसाइट के किसी दूसरे पोस्ट को ब्लॉग पोस्ट में ऐड करना।

आपके ब्लॉग पोस्ट में कम से कम एक Outbound और internal links का होना बहुत ही जरुरी है क्यूंकि ये links आपके पोस्ट को रैंक करने में मदद करता है।

Outbound लिंक आप किसी पॉपुलर वेबसाइट का ऐड करे जिससे यूजर को आपके site पे एक trust बन सकें और Internal link आपके ब्लॉग पोस्ट पर ज्यादा से ज्यादा traffic बढ़ाने में मदद करता है।

9. Page load speed :-

आपके वेबसाइट के लिए पेज लोड स्पीड का बहुत ही महत्वपूर्ण role होता है क्यूंकि अगर आपके साइट पेज लोड होने में बहुत समय लेता है तो आधे से ज्यादा यूजर आपके वेबसाइट को खोलेंगे ही नहीं और ऐसे में यूजर का आपके साइट पे आने के भी chances बहुत कम हो जाते हैं।

इसलिए आपको ध्यान रखना हैं की आप अपने वेबसाइट के पेज लोड स्पीड को ज्यादा ना होने दें और इसके लिए आपको फ़ालतू की चीज़ों को वेबसाइट पर से जरूर हटा देना चाहिए।

आप अपने वेबसाइट के पेज लोड स्पीड को कम करने के लिए light theme का इस्तेमाल करें, ज्यादा plugins ना रखे, images को compress करके इस्तेमाल करें, और cache clear करने वाले plugins का इस्तेमाल जरूर करें।

अगर आप ऊपर बताएं गए तरीकों को अपनाते हैं तो आपके वेबसाइट का पेज लोड स्पीड कम हो जाएगा।

10. Mobile Friendly (Responsiveness) :-

आपके अपने वेबसाइट को इस तरह से बनान है की वो किसी भी डिवाइस में खुले तो वो वो अच्छे से responsiveness होना चाहिए ताकि यूजर को कोई दिक्कत ना आये।

आज के समय में लगभग हर कोई फ़ोन का ही इतेमाल करते हैं इसलिए आपको ज्यादा से ज्यादा से ध्यान देना चाहिए की आपका वेबसाइट मोबाइल फ्रेंडली हो ताकि वो साइट मोबाइल में अच्छे से काम कर सकें।

On-Page SEO के Major Factors कौन-कौन से हैं :-

इस सो तकनीक के अंदर बहुत सारे major factors आते हैं जिन्हे सीखना और समझना बहुत ही जरुरी है ताकि आप अपने ब्लॉग पोस्ट को गूगल के first page पे rank करवा सकें।

तो चलिए On-Page SEO के कुछ Major Factors के नाम जान लेते हैं :-

  • Title
  • Meta-Description
  • Permalinks
  • Keyword Research
  • Keyword in slug
  • Text length
  • Keyword Density
  • Meta description length
  • Image Alt Tag
  • Keyword in title
  • SEO title width
  • Keyword in introduction
  • Keyword in subheading
  • Flesch Reading Ease
  • Paragraph length
  • Transition words
  • Passive voice
  • Subheading distribution
  • Sentence length
  • Internal links
  • Outbound links

ऊपर बताये गए यह सारे factors, On-Page SEO के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है और अगर आप इन सारे factors का ब्लॉग पोस्ट लिखते समय ध्यान रखते हैं तो आपके पोस्ट का सर्च इंजन में rank होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है

On-Page SEO और Off-Page SEO में क्या अंतर है :-

अब आपको On-Page SEO के बारे में सब कुछ अच्छे से समझ आ गया होगा तो अब देखते हैं की On-Page SEO और Off-Page SEO में क्या-क्या अंतर होता है।

अगर देखा जाए तो On-page SEO और Off-Page SEO दोनों ही हमारे ब्लॉग पोस्ट को रैंक करवाने में बहुत ज्यादा मदद करती है इसलिए आपको दोनों के बारे में जानना बहुत ही जरुरी है।

On-Page SEO :-

  • इस SEO तकनीक का इस्तेमाल ब्लॉग पोस्ट लिखने वक़्त किया जाता है।
  • On-Page SEO आपके आर्टिकल या ब्लॉग पोस्ट को optimize कर के search engine में रैंक करवाने में मदद करता है।
  • इस SEO तकनीक में Keyword, Title, Description, Heading, permalinks को बहुत ही ध्यान से लिखना होता है।
  • Title को अच्छे से ऑप्टिमाइज़ करना और उसमे Target Keyword को जरूर डालिये।
  • आपके ब्लॉग पोस्ट के permalink को छोटा रखे और इसमें भी टारगेट कीवर्ड का होना जरुरी है।
  • Heading को भी ऑप्टिमाइज़ करना है और H-1,2,3 tags में भी कीवर्ड जरूर डालें।
  • Meta-Description को अच्छे से और अट्रैक्टिव तरीकों से लिखना है ताकि विजिटर अट्रैक्ट होकर आपके पोस्ट को जरू पढ़े और इसमें भी Target Keyword का होना बहुत ही जरुरी है।
  • Target Keyword का इस्तेमाल पहले शरू के पैराग्राफ में जरूर कीजिए।
  • आपके अपने पोस्ट में Keyword Density का इस्तेमाल 2.5 % से ज्यादा नहीं होना चाईए।
  • आप अपने ब्लॉग के images में Alt Tag का इस्तेमाल जरूर कीजिए।
  • अपने आर्टिकल में इंटरनल और एक्सटर्नल लिंक जरूर add करें।

Off-Page SEO :-

  • इस SEO तकनीक का इस्तेमाल वेबसाइट के बाहर किया जाता है जैसे अपने ब्लॉग का प्रमोशन करना।
  • Off-Page SEO आपके वेबसाइट को authoritative और popular बनाकर रैंक करवाने में मदद करती है।
  • इस SEO तकनीक में आपको अपने वेबसाइट को ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर promote करना होता है।
  • Backlink बनाने की स्ट्रेटेजी को समझे और सही तरीके से बैकलिंक बनायें।
  • इस SEO तकनीक के अंतर्गत सोशल बुकमार्किंग किया जाना बहुत ही जरुरी है।
  • अपने ब्लॉग जैसे niche वाली वेबसाइट में गेस्ट पोस्ट करें।
  • Directory Submission करना भी बहुत जरुरी है।
  • सोशल मीडिया वेबसाइट जैसे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर अपने ब्लॉग पोस्ट को जरूर शेयर करें।
  • Forum Submission करना भी बहुत जरुरी है।
  • अपने niche वाले ब्लॉग में कमेंट करके backlink बना सकते हैं।
  • Discussion वाले website जैसे Quora, Medium वाले साइट पे अपने ब्लॉग पोस्ट का लिंक शेयर करना।

आज आपने क्या सीखा :-

आज के इस पोस्ट में आपको On-Page SEO के बारे में बहुत कुछ सिखने को मिला होगा जैसे On-Page SEO क्या है, On-Page SEO कैसे करते है, On-Page SEO हमारे ब्लॉग के लिए क्यों जरुरी है, इत्यादि

अगर आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा हो और कुछ सिखने को मिला हो तो आप इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया platforms और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

अगर आपको On-Page SEO से रिलेटेड कोई सवाल पूछना हो तो आप नीचे comments section में पूछ सकते हैं।

मुझे उम्मीद हैं की आपको On-Page SEO और इनसे जुड़ी सारी जानकारी के बारे में सब-कुछ अच्छे से समझ आ गए होंगे और On-Page SEO से संबंधित सारे प्रश्नो का जवाब भी मिल गया होगा।

Please Share :-


Saurav Bhagat

I am a passionate Blogger, Content Writer, SEO expert, and Freelancers.

4 Comments

Gaurav · August 5, 2021 at 3:47 pm

Aapne On-Page SEO ke baare me bahut acchi jaankari diya hai.
Mujhe iss post me sab kuch samajh aa gya hai.

    Saurav Bhagat · August 5, 2021 at 4:10 pm

    Aap isi tarah hamaare post ko padhte rhe kyunki humlog isi tarah Ki jaankaari laate rehte hai.
    Thanks for visiting our website.

carryatul · August 25, 2021 at 4:29 pm

best information on that topic keep hard working bro. thanks

    Saurav Bhagat · August 26, 2021 at 10:49 am

    Thank you so much bhai for your appreciation.👍👍👍

Leave a Reply