RBI Ka Full Form – RBI क्या है और यह कैसे काम करता है?

Published by Saurav Bhagat on

Spread the love

हेलो दोस्तों, आज मैं आपको RBI Full Form, RBI ka full form, RBI long form, RBI full form in hindi, RBI meaning in hindi, RBI क्या है, RBI की शुरुआत, RBI का मुख्यालय, इत्यादि के बारे में बताने वाला हूँ।

आप सभी ने RBI का नाम तो सुना ही होगा और इसके बारे में आपमें से कुछ लोगों को इसके बारे में जानकारी भी होगी लेकिन क्या आपको RBI का पूरा नाम पता है और इसे हिंदी में क्या बोला जाता है।

जैसा की आपको पता होगा की प्रत्येक देश का अपना एक केंद्रीय बैंक होता है जो सभी बैंको का संचालन करता है। ठीक इसी तरह भारत का भी एक केंद्रीय बैंक है जिसका नाम RBI है।

आपमें से ऐसे बहुत सारे लोग होंगे जिन्हें RBI का फुल फॉर्म पता होगा और साथ ही RBI के बारे में बहुत कुछ पता भी होगा लेकिन फिर भी ऐसे बहुत सारे लोग होंगे जिन्हें इन सभी के बारे में ज्यादा अच्छे से पता नहीं होता है।

अगर आपको भी RBI के बारे में पूरी जानकारी नहीं है तो कोई बात नहीं क्यूंकि आज मैं आपको RBI full form के अलावा इनसे जुड़ी सारी जानकारी बताने वाला हूँ।

इसलिए आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक पूरा पढ़िए ताकि आपको RBI के बारे में सारी जानकारी अच्छे से पता चल सकें।

RBI Ka Full Form

RBI Ka Full Form क्या है?(RBI Meaning)

RBI का फुल फॉर्म “Reserve Bank of India” होता है। RBI को हिंदी में “भारतीय रिजर्व बैंक” बोला जाता है।

RBI Full Form In English :-

RBI का फुल फॉर्म “Reserve Bank of India होता है।

R – Reserve

B – Bank of

I – India

◆ What is the full form of RBI? – Full Form of RBI isReserve Bank of India

RBI Full Form In Hindi :-

RBI का फुल फॉर्म हिंदी में भारतीय रिजर्व बैंक होता है।

RBI क्या है? (RBI kya hai)

RBI भारत का केंद्रीय बैंक है जिसे भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम के तहत 1 अप्रैल 1935 को स्थापित किया गया था। यह बैंक भारत की अर्थव्यवस्था को नियंत्रित करने का कार्य करता है।

भारतीय रिजर्व बैंक, भारत सरकार की मौद्रिक और अन्य प्रकार की बैंकिंग नीतियों को नियंत्रित करता है और भारत में उपस्थित सभी मुद्राओं का हिसाब रखती है।

RBI मुद्रा छापने का काम करती है और भारतीय रिजर्व बैंक भारत में काम करने वाले वाणिज्यिक बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों को नियंत्रित करता है।

RBI भारत में उपस्थित सभी बैंकों का संचालन करता है जिस वजह से इसे बैंकों का बैंक भी बोला जाता है और RBI के 29 ऑफिस पूरे विश्व भर में उपस्थित है।

## इसे भी पढ़े –

◆ SBI क्या है और इसकी शुरुआत कब हुयी थी? – Click Here

◆ BOI क्या है और इसकी शुरुआत कब हुयी थी? – Click Here

RBI की शुरुआत :-

RBI की स्थापना भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम, 1934 के प्रावधानों के अनुसार 1 अप्रैल, 1935 को हुई थी। आरबीआई की शुरुआत ब्रिटिश राज के शासनकाल में ही हुई थी, और उस समय यह प्राइवेट बैंक के अंदर काम करता था।

भारतीय रिजर्व बैंक का केंद्रीय कार्यालय शरुआत में कोलकाता में स्थपित किया गया था जिसे 1937 में स्थायी रूप से मुंबई में स्थानांतरित कर दिया गया था।

शुरुआत में यह निजी स्वमित्व वाला बैंक था लेकिन 1 जनवरी 1949 में इसका राष्ट्रीयकरण कर दिया गया उसके बाद से इस पर भारत सरकार का पूरा स्वमित्व हो गया है।

RBI के गवर्नर कौन हैं?

अभी के समय(2022) RBI के गवर्नर ‘Shaktikanta Das’ जी हैं। इससे पहले RBI के गवर्नर उर्जित पटेल और रघुराम राजन थे।

RBI का मुख्यालय कहाँ है?

RBI का मुख्यालय मुंबई में स्थित है। RBI का मुख्यालय मुंबई से पहले कोलकाता में स्थित था और आरबीआई का कार्यालय वहीं होता है जहां पर गवर्नर बैठते हैं।

## इसे भी पढ़े –

◆ SIP क्या है और इसमें कैसे निवेश करते हैं? – Click Here

◆ KYC क्या है और इसके क्या फायदे हैं? – Click Here

RBI का उद्देश्य :-

RBI का उद्देश्य वणिज्य बैंकों, वित्तीय संस्थाओं और गैर- बैंकिंग वित्तीय संस्थाओं सहित वित्तीय क्षेत्र की परियोजनाओं पर्यवेक्षण और संचालन करना होता है।

RBI का प्रबंधन राष्ट्रीय विनिमय मूल्य की मौद्रिक स्थिरता और आर्थिक विकास सुनिश्चित करने से है। यह राष्ट्र की मुद्रा और उसके मुद्रा प्रणाली को उसके पूर्ण लाभ के लिए संचालित करता है।

RBI के कार्य :-

RBI के कुछ मुख्य कार्य निम्न प्रकार हैं –

  • RBI को ही केवल देश में नोट छापने का अधिकार प्राप्त है, इसलिए RBI का सबसे महतवपूर्ण कार्य सभी तरह के नोट जारी करना है।
  • RBI सभी बैंको के लिए कार्य करता है और यह RBI का मुख़्य कार्य में आता है जो देश के सभी वाणिज्यिक बैंकों(commercial banks) को पैसे उधार देता है।
  • RBI भारत के सभी बैंकों के बैंक अकाउंट रखता है और जरूरत पड़ने पर उन सभी बैंकों के लिए अंतिम ऋणदाता का कार्य करता है।
  • RBI क्रेडिट नियंत्रण और देश की मौद्रिक नीति को लागू करने का कार्य भी करता है।
  • RBI विदेशी मुद्राओं की लेन-देन करता है और विदेशी मुद्रा भंडार की सुरक्षा भी करता है।

RBI से संबंधित कुछ रोचक जानकारी :-

RBI से संबंधित कुछ रोचक जानकारी निम्नलिखित हैं –

  • RBI का वित्तीय वर्ष 1 जुलाई से 30 जून तक के बीच होता है।
  • RBI की स्थापना ब्रिटिश राज में ही हो चुकी थी।
  • भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री मनमोहन सिंह जी भी RBI के गवर्नर रह चुके हैं।
  • RBI का नाम पहले Imperial Bank of India था।
  • RBI के द्वारा सिर्फ करेंसी नोटों ही छापा जाता है।
  • RBI के अनुसार यदि आपके पास 1 से 20 रूपये तक के नोट 50% से कम फटा हुआ है तो आप बैंक से पूरे पैसे ले सकते हैं।

## इसे भी पढ़े –

◆ ATM क्या है और यह कैसे काम करता है? – Click Here

◆ GST क्या है और इसके फायदें क्या हैं? – Click Here

FAQs (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल):-

Q. RBI का फुल फॉर्म क्या है?

Ans: RBI का फुल फॉर्म “Reserve Bank of India” है।

Q.RBI का पुराना नाम क्या था?

Ans: RBI बैंक का पुराना नाम ‘Imperial Bank of India’ था।

Q. RBI का मुख्यालय कहाँ है?

Ans: RBI का मुख्यालय मुंबई में स्थित है।

Q. RBI की स्थापना कब हुई थी?

Ans: RBI की स्थापना 1 अप्रैल 1935 में हुई थी।

Q. RBI गवर्नर की नियुक्ति कौन करता है?

Ans: RBI गवर्नर की नियुक्ति वित्त मंत्री की सलाह पर प्रधानमंत्री के द्वारा की जाती है।

Q. RBI के गवर्नर कौन है?

Ans: अभी के समय(2022) RBI के गवर्नर ‘Shaktikanta Das’ हैं।

Q. RBI का राष्ट्रीयकरण कब हुआ था?

Ans: RBI का राष्ट्रीयकरण 1 जनवरी 1949 में किया गया था।

आज आपने क्या सीखा :-

आज के इस आर्टिकल में हमनें RBI के बारे में बहुत कुछ जाना है, हमने RBI Full Form, RBI ka full form, RBI long form, RBI full form in hindi, RBI meaning in hindi, RBI क्या है, RBI की शुरुआत, RBI का मुख्यालय, इत्यादि के बारे में बात किया है।

मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल में बतायी गयी सारी बातें आपको अच्छी लगी होगीं और सब कुछ समझ आ गया होगा। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको के बारे में सब कुछ पता चल गया होगा।

अगर आप मुझसे RBI से रिलेटेड कोई सवाल पूछना चाहते हैं तो नीचे comment कर के पूछ सकते हैं और अगर कोई सुझाब हो तो भी आप बता सकते हैं।

अगर हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हों तो आप अपने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स और अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Categories: Full Form

Saurav Bhagat

I am a passionate Blogger, Content Writer, SEO expert, and Freelancers.

0 Comments

Leave a Reply